Hubsutra

Every One Need eXtra

जॉब के चक्कर में मिली टाइट चूत

जॉब के चक्कर में मिली टाइट चूत

indian sex kahani, desi porn stories

हेल्लो दोस्तों कैसे हो आप सब मैं हूँ पुनीत और मेरा काम है बातें करना | उसके बाद मैंने सोचा जब मैं इतनी अच्छी बात कर लेता हूँ तो मैं कुछ काम शुरू कर लेता हूँ | पर मैं आप लोगो को ये सब बाद में बताऊंगा पहले मैं अपने आप के बारे में आपको कुछ बता देता हूँ | तो दोस्तों मैं जगदलपुर में रहता हूँ और वहां पे मेरे माँ बाप भी रहते हैं और मेरा एक बड़ा भाई भी है | हम सब एक ही घर में रहते हैं और मेरे पापा एक बिजली कर्मचारी हैं मतलब सरकारी नौकरी पर हैं | मेरा बड़ा भाई भी अच्छी जगह पर है और वो भी सरकारी नौकरी पर है | मम्मी घर संभालती हैं और मैं पढ़ाई पूरी कर चुका हूँ और अभी सोच रहा हूँ कि करना क्या है ? इसलिए मुझे अब घर में ताने भी मिलने लगे हैं क्यूंकि सब चाहते हैं कि मैं काम पर लग जाऊं और उसके बाद बड़े भाई की शादी कर दी जाए | उसके बाद मेरा नंबर लग जाएगा क्यूंकि हम दोनों बस एक दुसरे से दो साल छोटे हैं | तो दोस्तों ये रहा मेरा पूरा कच्चा चिटठा और अब मैं आता हूँ अपनी कहानी पर |

मैं यूँही घूमता फिरता रहता और मैंने जिस चीज़ की पढ़ाई की है उससे मिलती जुलती जॉब खोजता रहता पर मुझे कुछ समझ नहीं आता | एक दिन मैं पान के टपरे पर खड़े होकर गुटका ले रहा था तभी वहां पर सोंडा आ गया और वो भी गुटका लेने लगा | उसके बाद जब सब हो गया तब हम दोनों में बात होने लगी | उसने बताया कि पहले वो कम सैलरी पर काम कर रहा था पर बस एक्सपिरेंस के लिए और अब उसकी पगार बढ़ गयी है | मैंने पूछा कौनसी कंपनी में काम कर रहा है तो उसने बताया एक फार्मा कंपनी है बड़ी अच्छी और नामचीन और उसकी दवाइयां बेचनी रहती हैं | मैंने कहा सही है यार और इतने में ही दूसरा टॉपिक चालु हो गया बात का | अब ऐसी महफ़िल जम गयी कि राजू पसेडी ने गुटका लगाना छोड़ दिया और वो भी हमारी बातों में लग गया | उसके बाद बाबा लेहरी और रमा बहिया भी आ गए और ले फिर होन दे बात पे बात | बाबा लहरी इपनी पेल रहा था और मैं उसकी बात काट रहा था और सब मेरी बात से सहमत भी हो रहे थे और कह रहे थे छोटे भाई तुम बिलकुल सही कह रहे हो |

loading…

वो अपने तर्क दिए जा रहा था और मैं उसको काट रहा था क्यूंकि वो गलत कह रहा था | कहीं कहीं पर वो भी सही था और मैंने उसका समर्थन भी किया पर सब मेरी बातों पर ज्यादा ध्यान दे रहे थे | अब आधे घंटे हो गए और उसके बाद मैं जाने लगा तो सोंडा ने मुझसे कहा भाई तेरी बातें करने का स्टाइल एक नंबर है तू सेल्समेन बंजा बोल तो एक मस्त कंपनी में जगह खली है बात करूँ तेरे लिए | मैंने कहा यार पगार कितनी मिलेगी वहां पर तो उसने कहा भाई शुरू में तुझे १८००० रुपये मिलेंगे और एक साल बाद तो अपने आप तू खुद से बढ़ जाएगा | मैंने सोचा चलो यार ठीक है कर लूँगा क्यूंकि मुझे ज़रूरत भी थी जॉब की | इसलिए मैं वहां गया और इंटरव्यू देकर आ गया और अगले ही दिन मुझे फोन आया कि आपका सिलेक्शन हो गया है और आपको परसों से काम पर आना है | वो कंपनी मसाले की थी और उसमे मुझे मसाले बेचने थे | जब मैं वहां गया तो मुझे मेरे सीनियर और लीडर मिले |

सीनियर थे विनय और अर्पित और मेरे साहब थे लोकेश | सब मुझसे बात करने करने लगे और सब खुश हो गए | अब सब मुझे काम सिखाने लगे और मैं बहुत जल्दी काम सीखने लगा | विनय भैया मुझसे बहुत बात करते थे और जहाँ भी मैं गलती करता था तो वो तुरंत सुधारते थे | अर्पित तो मुझे ऐसा बनाने में लगा था जैसे कोई घातक खिलाड़ी | मं भी सबकी बात मानता फिर एक दिन साहब आये और कहने लगे क्यूँ लगे हो ? मैंने कहा हाँ सर और अब तक मुझे पता चल चुका था कि ये बहुत बड़ा गांडू है और इसको कुछ नहीं आता ये बस दूसरो के दम पर उछलता रहता है | उसके बाद वो कभी नहीं आता था पर मेरा ग्राफ दिन प्रति दिन बढ़ता जा रहा था और अब सब मुझसे अच्छा समझने लगे थे क्यूंकि मैं मार्किट में माल पेल के आता था | विनय भैया और अर्पित मुझे कहने लगे अब तू दुकानों में और ज्यादा टाइम दे जिससे वो लोग ज्यादा माल लेने लग जाए | मैंने कहा ठीक है भैया कल से ऐसा ही करूँगा और मैं सोचने लगा कल किस दुकान पर पहले जाऊँगा |

पर अगले दिन मेरी प्याज कट गयी क्यूंकि अगले दिन नया टारगेट आ गया था और मेरा टारगेट थे 7 लाख रुपये | सब मुझसे कहने लगे अबे डर मत सब हो जाएगा | मैंने कहा ठीक है भैया आप लोग हो मेरे साथ तो हो ही जाएगा | अब इतने में अर्पित भैया आये और कहा बाबा आज अपना एक लाख का माल बिक गया | मैंने कहा भैया ऐसा कुछ मेरे लिए भी करवा दो यार | उसने कहा चिंता मत कर करवा दूंगा | मैं भी टेंशन फ्रीहो गया क्यूंकि मुझे बस अब मेहनत से माल बेचना था | इसलिए मैं आने जाने लगा और एक दिन मेरा एक मार्किट फस गया गढ़ा इस मार्किट में मादरचोद कोई ढंग की दूकान नहीं है | यहाँ पर सब गांडू हैं पर मुझे यहाँ से भी धंदा लाना था और कैसे भी लाना था | यही बस मेरी गांड के कीड़ा काटने लगा और मुझे लगा साला आज किसी भी हाल में यहाँ से ५०००० का धंदा तो लेके जाऊँगा | बस एक दूकान बची थी पूरे मार्किट की और वो थी शैली की | मैं वह गया और उससे पूछा कुछ लगेगा क्या ?

उसने मना कर दिया पर वो माल है इसलिए मैं वहां रुका रहा और कहा अरे देख लो यार कुछ तो कम हुआ होगा | उसने कहा अगले हफ्ते लूंगी तो मैंने कहा यार कुछ आर्डर दे दो टारगेट आया है | उसने कहा एक चीज़ नहीं है तो मैंने कहा बताओ तो उसने कहा लंड | मैंने कहा अरे यार क्या बात कर रही हो तो उसने कहा लंड दे दो और जितने का आर्डर बोलोगे बना दूंगी और पैसे दूंगी नगद | मैंने सोचा भाई पुनीत आज कर ले बंदी माल है और आर्डर भी मिल जाएगा | मैंने कहा चलो दिया अपना लंड तो उसने कहा आ जाओ दुकान के अन्दर और शटर गिरा दो | मैंने वैसा ही किया और जैसे ही अन्दर गया उसने कलर चालु किया और मेरे पास आकर मुझसे चिपक गयी | मैंने कहा यार तुम तो पास से और मस्त लगती हो | उसने कहा बात मत करो बस काम करो | मैंने चुपके से अपना मोबाइल चालु किया और सब रिकॉर्ड करने के लिए रख दिया | उसके बाद हम दोनों किस करने लगे | उसके होंठ बड़े नाज़ुक थे और मुझे किस करने में बेहद मज़ा आ रहा था |

मैंने उसके बालो को किनारे किया और उसके गले पर चूमने लगा तो वो मदहोश होने लगी | मैं उसको चूमने के साथ साथ उसके दूध भी दबा रहा था | फिर उसने मेरे कपडे खोलना शुरू कर दिए और मैंने भी उसका टॉप उतार दिया | उसका बदन इतना मस्त था कि मैं आपको बता नहीं सकता | पतली कमर और गोरा बदन मलाई जैसा | उसके बाद मैंने उसके ब्रा को फाड़ दिया और उसके दूध को जानवर की तरह चूसने लगा और वो मुझे सहलाने लगी | मैं उसके दूध काट काट के चूस रहा था और वो आ ऊह्हह कर रही थी | फिर वो नीचे झुकी और उसके बाद उसने मेरे लंड को पकड़ के अपने मुंह में भर लिया और चूसने लगी | मैं भी अपना हाथ पीछे ले जाके उसकी चूत में ऊँगली करने लगा | वो पागलो की तरह वर्ताव करने लगा जो मुझे उकसा रहा था |

उसके बाद मैंने उसकी चूत को चाटा और उसकी चूत से रस निकाल दिया | उसके बाद मैंने उसकी चूत में अपना लंड डाला और उसको चोदने लगा | उसकी चूत टाइट थी और मैं उसे धक्के मार मार के चोद रहा था | वो मेरी आँखों में देखते हुए आ ऊऊउफ़् आआह्हह्हह ऊऊऊह्हह कर रही थी | उसके बाद मैंने उसको पलटाया और उसकी चूत को पीछे से चोदना चालु किया और मेरे मोटे लंड से उसकी चूत फ़ैल रही थी | मेरा मुट्ठ उसके दूह के ऊपर निकाला मैंने और उसके बाद आर्डर लिया एक लाख का और पैसे भी मिले तुरंत |

अब मैं उसे वीडियो दिखा के खूब चोदता हूँ |

Updated: July 12, 2018 — 8:42 am

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Hubsutra © 2018 Frontier Theme